फलौदी सट्टा बाजार की भविष्यवाणी, प्रदेश भाजपा को 21-22 व कांग्रेस को 3-4 सीटें मिलेंगी

फलौदी सट्टा बाजार ने लोकसभा चुनावों से पूर्व 25 लोकसभा सीटों वाले राजस्थान में बीजेपी के लिए 21-22 सीटें और कांग्रेस के लिए 3-4 सीटें जीतने का दावा किया है.

जोधपुर/जयपुर: लोकसभा चुनाव के सियासी जमीन पर जीत का परचम लहराने के लिए कांग्रेस और भाजपा की तरफ जमीनी कवायद पूरी हो चुकी है. वहीं, चुनाव खत्म होने के बाद राज्य के फलौदी सट्टा बाजार की ओर से की गई भविष्यवाणी से कांग्रेस को बड़ा झटका लगता नजर आ रहा है. फलौदी सट्टा बाजार ने लोकसभा चुनाव में राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस को केवल 3-4 सीटें और भाजपा को 21-22 सीटें मिलने की भविष्यवाणी कर दी है. सट्टा बाजार के इस अनुमान के बाद से राज्य के सियासी गलियारों में उबाल आ गया है.

पिछले दिसंबर में विधानसभा चुनाव जीतकर सत्ता में पहुंची कांग्रेस राज्य की सभी 25 सीटों पर जीत दर्ज करने के लिए रणनीति बना रही थी . इसके लिए पार्टी स्तर पर तैयारियों को तेज किया गया था . लेकिन, अब फलौदी सट्टा बाजार के अनुमान के बाद सियासतदारों के बीच चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है. वहीं, इसके कई राजनीतिक कयास भी लगाए जाने लगे हैं. लोकसभा चुनाव को लेकर सबसे बड़े सट्टा बाजार में से एक फलौदी का यह रुझान कइयों को झटका दे रहा है. सट्टा बाजार के अनुमान के तहत विधानसभा चुनाव में जीत हासिल कर चुकी कांग्रेस के खाते में 3 -4 तो भाजपा के खाते में इस बार 21-22 सीटें जा सकती हैं.

आपको बता दें कि यहां चुनावी चलन रहा है कि राज्य में जिसकी सरकार होती है, उस पार्टी को लोकसभा चुनाव में ज्यादा सीटें हासिल होती हैं. लेकिन, इस बार सट्टा बाजार के अनुमान में यह परंपरा टूटती नजर आ रही है. इस अनुमान को देखने क बाद सियासी गलियारों में चर्चा शुरू हो गई है कि विधानसभा चुनाव पिछली सरकार को लेकर लोगों में रही नाराजगी का लाभ कांग्रेस को मिला था. लेकिन, लगता है कि लोकसभा चुनाव को लेकर आमजन का मूड़ कुछ और ही कह रहा है.

हालांकि, कांग्रेस नेताओं ने साफ तौर पर दावा किया है कि पार्टी राज्य में लोकसभा चुनाव के दौरान सभी 25 सीटों पर जीत दर्ज कर रही है . वहीं, राजनीति के जानकारों का कहना है कि यदि सट्टा बाजार का अनुमान सियासी जमीन पर खरा उतरता है तो हाल में प्रदेश की कांग्रेस सरकार के लिए यह पल काफी मुश्किल भरा साबित हो सकता है.

Advertisements