अधिकारी जनप्रतिनिधियों की मंशा के अनुरूप जन हित के कार्यो को अंजाम दें- जिला प्रमुख

खास खबर राजस्थान 5 फरवरी 2019

बिजली, पानी सडक व चिकित्सा सहित विभिन्न विषयों पर हुई गहन चर्चा
जालोर, 5 फरवरी। जिला प्रमुख डॉ. वन्नेसिंह गोहिल की अध्यक्षता में एवं वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई की उपस्थिति में मंगलवार को जिला परिषद की सामान्य बैठक सम्पन्न हुई जिसमें जिले में बेहत्तर विकास कार्यो एवं जन समस्याओं की गहन चर्चा के साथ ही जनप्रतिनिधियों ने पानी, बिजली, सड़क, चिकित्सा, शिक्षा सहित विभिन्न विषयों में ठोस कार्य किये जाने के अतिरिक्त वर्ष 2019-20 के लिए महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत जीआइएस बेस्ड प्लान बजट का सर्व सम्मति से अनुमोदन किया गया।
जिला परिषद के सभा कक्ष में आयोजित परिषद की सामान्य बैठक में राज्य के वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई, आहोर विधायक छगनसिंह राजपुरोहित एवं जिला कलक्टर महेन्द्र सोनी सहित विभिन्न प्रधान उपस्थित थें।
जिला प्रमुख डॉ. वन्नेंसिह गोहिल ने अधिकारियों से कहा कि वे जन प्रतिनिधियों की मंशा के अनुरूप जन हित के कार्यो को प्राथमिता से करवाने के साथ ही अपूर्ण कार्यो को प्राथमिकता से पूर्ण कर जिले में पानी, बिजली, चिकित्सा संबंधी कार्यो को तत्परता से सम्पादित करें। उन्होंंने पूर्व बैठक में सदस्यों द्वारा पूछे गए प्रश्नों एवं उनकी समस्याओं का निस्तारण 15 फरवरी तक पूर्ण करने तथा लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश प्रदान किए।

राज्य के वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम विश्नोई ने बैठक में जिले में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के तहत नरेगा श्रमिकों के बकाया भुगतान को गंभीरता से लेते हुए कहा कि गांवों में काम मांगों विशेष अभियान के तहत अधिक से अधिक मांग के अनुरूप श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करें। वही मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार ने पंचायती राज विभाग को हस्तांतरित पांचों विभागों के अधिकारियों को प्रतिदिन जिला परिषद में रखे उपस्थिति रजिस्टर में समय पर हस्ताक्षर करने तथा उच्चाधिकारियों की अनुमति के बिना मुख्यालय नहीं छोड़ने के निर्देश दिए जिससे प्रगतिरत कार्यो में विलम्ब उत्पन्न नहीं हो।
बैठक में आहोर विधायक छगनसिंह राजपुरोहित ने क्षेत्र में टूटी सड़कों व नालिया,ें विद्युत, चिकित्सा एवं शिक्षा विभाग से संबंधित समस्याओं के समाधान करने तथा विभिन्न विभागों के रिक्त पड़े पदों को शीघ्रता से भरने की आवश्यकता जताई। उप जिला प्रमुख श्रीमती गिरधर कंवर ने पंचायत समिति भीनमाल क्षेत्र में चल रहे सड़क निर्माण कार्यो के गुणवत्तापूर्ण नहीं होने पर नाराजगी जताते हुए कार्यो की जांच करवाने की बात कही।
जिला कलक्टर महेन्द्र सोनी ने बैठक में कहा कि जिले में एमजी नरेगा के तहत विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार मांगन वाले लोगों को रोजगार दिये जाने की दिशा में सार्थक कार्य किया जायेगा वही ग्राम पंचायतों द्वारा अनुमोदित कार्यो की स्वीकृति यथा समय में कर ली जायेगी ताकि श्रमिकों को त्वरित गति से रोजगार मुहैया हो सकें। उन्होंने बैठक में कहा कि यदि किसी अधिकारी द्वारा समस्या का समाधान नहीं किया जाता हैं तो वह अपनी शिकायत जिला कलक्टर कार्यालय में निःसंकोच प्रस्तुत कर सकता हैं जिसका समय पर समाधान किया जाएगा साथ ही संबंधित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही भी अमल में लाई जायेगी। बैठक में जालोर प्रधान श्रीमती संतोष, चितलवाना प्रधान हनुमान प्रसाद भादू, सांचौर प्रधान टाबाराम, रानीवाडा प्रधान श्रीमती रमिला, भीनमाल प्रधान धुखाराम पुरोहित, सायला प्रधान जबरसिंह, जिला परिषद सदस्य मंगलसिंह सिराणा, प्रदीपसिंह सियाणा, मेघराज, श्रीमती पवनी देवी, आम्बाराम, माधोसिंह, राजेश कुमार, मीरादेवी एवं हिम्मताराम आदि ने अपने-अपने क्षेत्र की जन समस्याओं को तत्परता से रखा।
बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार ने बैठक में रखे जाने वाले विषयों तथा विभागीय प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी दी। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक केशरसिंह शेखावत, महात्मा गांधी नरेगा के अधिशाषी अभियन्ता नाथूलाल जैन, शंकरलाल राठौड़, तेजाराम चौधरी, विकास अधिकारी इन्द्रसिंह राजपुरोहित, सुरेश कविया, हेमाराम, छोगाराम विश्नोई, तेजाराम चौधरी, भंवरसिंह चारण, सहित विभिन्न सदस्य एवं जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित थे।
बैठक में श्यामाप्रसाद मुखर्जी योजना के तहत रानीवाड़ा पंचायत समिति की ग्राम पंचायत रानीवाड़ा कल्लां के लिए 105 करोड़ का बजट प्रस्तुत किया गया।

Advertisements